loading...

Asthma ke gharelu upay Asthma Treatment in Hindi

Asthma ke gharelu upay

Asthma ke gharelu upay Asthma Treatment in Hindi

Asthma ke gharelu upay Asthma Treatment in Hindi

Asthma को हिंदी में दमा कहते है | अस्थमा एक प्रकार की बीमारी है जिससे सांस लेने में तकलीफ होती है | दमा रोग पीड़ित व्यक्ति को सांस लेने में बहुत पीड़ा होती है और अक्सर सांस फ्हुलने लगती है | अस्थमा रोग दो प्रकार की होती है |

  • स्पेसिफिक अस्थमा: कोई एलर्जी के कारन सांस फ्हुलने लगती है |
  • नॉन-स्पेसिफिक अस्थमा: भारी काम करने से, वजन उठाने से, चडान चड़ने से सांस फ्हुलती है |

Asthma ke Lakshan in Hindi Asthma Symptoms:

अगर आपको निचे दिये हये लक्षण महसूस हो रहे हो तो यह Asthma ke Lakshan भी हो सकते है |

  • सांस लेने में हमेशा तकलीफ होना
  • गले में हमेशा सख्त cough का जमा होना
  • पसीना आना
  • Chest में ज्हकदन होना
  • सुखी खांसी होना

Asthma ke gharelu upay Asthma Tretament in Hindi:

निचे दम का आयुर्वेदिक उपचार है | इन्हें ध्यान से पढ़े और प्रयोग करे |

  • केला:

एक पका केला छिलका लेकर चाकू से लम्बाई में चीरा लगाकर उसमें एक छोटा चम्मच दो ग्राम कपड़ा छान की हुई काली मिर्च भर दें। फिर उसे बगैर छीले ही, केले के वृक्ष के पत्ते में अच्छी तरह लपेट कर डोरे से बांध कर 2-3 घंटे रख दें। बाद में केले के पत्ते सहित उसे आग में इस प्रकार भूने की उपर का पत्ता जले। ठंडा होने पर केले का छिलका निकालकर केला खा लें।केला

  • लहसुन:

लहसुन अस्थमा के इलाज में काफी कारगर साबित होता है। 30 मिली दूध में लहसुन की पांच कलियां उबालें और इस मिश्रण का हर रोज सेवन करने से दमे में शुरुआती अवस्था में काफी फायदा मिलता है।

  • काली मिर्च :

180 मिमी पानी में मुट्ठीभर सहजन की पत्तियां मिलाकर करीब 5 मिनट तक उबालें। मिश्रण को ठंडा होने दें, उसमें चुटकीभर नमक, काली मिर्च और नीबू रस भी मिलाया जा सकता है। इस सूप का नियमित रूप से इस्तेमाल दमा उपचार में कारगर माना गया है।

  • अजवाइन:

दमा रोगी पानी में अजवाइन मिलाकर इसे उबालें और पानी से उठती भाप लें, यह घरेलू उपाय काफी फायदेमंद होता है।

  • अदरक:

अदरक का एक चम्मच ताजा रस, एक कप मैथी के काढ़े और स्वादानुसार शहद इस मिश्रण में मिलाएं। दमे के मरीजों के लिए यह मिश्रण लाजवाब साबित होता है।

  •  मैथी:

मैथी का काढ़ा तैयार करने के लिए एक चम्मच मैथीदाना और एक कप पानी उबालें। हर रोज सबेरे-शाम इस मिश्रण का सेवन करने से निश्चित लाभ मिलता है।

  • लौंग

4-5 लौंग लें और 125 मिली पानी में 5 मिनट तक उबालें। इस मिश्रण को छानकर इसमें एक चम्मच शुद्ध शहद मिलाएँ और गरम-गरम पी लें। हर रोज दो से तीन बार यह काढ़ा बनाकर पीने से मरीज को निश्चित रूप से लाभ होता है।

  • अदरक:

अदरक की गरम चाय में लहसुन की दो पिसी कलियां मिलाकर पीने से भी अस्थमा नियंत्रित रहता है। सबेरे और शाम इस चाय का सेवन करने से मरीज को फायदा होता है।

Leave a Reply